NCIPM logo
परियोजनाएँ
कार्यक्रम I:
विभिन्न कृषि-पारिस्थितिक क्षेत्रों की प्रमुख उत्पादन प्रणालियों के लिए क्षेत्र विशिष्ट आईपीएम मॉड्यूल और प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए एक राष्ट्रीय नेटवर्क की स्थापना

क्र. सं.

परियोजना का शीर्षक

प्रधान अन्वेषक

धान

1.

प्राकृतिक खेती के संदर्भ में आईपीएम का सत्यापन और संवर्धन

डॉ. राकेश कुमार

2.

अमरूद एवं अन्य फसलों में सूत्रकृमि समस्या का प्रबंधन

डॉ. एम. सहगल

3.

सीधी बुआई वाले धान में आईपीएम का शोधन, सत्यापन और लोकप्रिय बनाना

डॉ राकेश कुमार

4.

निर्यातोन्मुख बासमती धान उत्पादन के लिए धान आधारित फसल प्रणाली में आईपीएम का सत्यापन, शोधन और संवर्धन

डॉ. अनूप कुमार

5.

मक्का में आर्मीवॉर्म (स्पोडोप्टेरा फ्रुगाइपर) पर विशेष ध्यान देने के साथ आईपीएम रणनीति का विकास, सत्यापन और प्रचार

डॉ. मुकेश खोखर

6.

मक्का में आईपीएम रणनीति का सत्यापन, शोधन और प्रचार

डॉ. मुकेश खोखर

कपास

1.

गुलाबी बॉलवर्म पर प्रमुखता के साथ कपास आईपीएम के संश्लेषण, मान्यता और संवर्धन

डॉ. अजन्ता बिराह

2.

भारत के मध्य क्षेत्र के लिए बीटी कपास में कीट प्रबंधन रणनीति का संश्लेषण, सत्यापन और संवर्धन

डॉ. अजन्ता बिराह

3.

भारत के उत्तर क्षेत्र में कपास में आईपीएम का सत्यापन, शोधन और संवर्धन

श्री लिंकन कुमार आचार्य

उद्यानिकी फसलें

1.

मिर्च की फसल में आईपीएम प्रौद्योगिकी का संश्लेषण, सत्यापन और संवर्धन

डॉ. एम. एन. भट्ट

2.

हरियाणा सरकार द्वारा वित्त पोषित सब्जियों की फसलों में फल मक्खी के लिए अनुकूलनीय और सुपुर्दगी योग्य आईपीएम प्रौद्योगिकी का क्षेत्रवार कार्यान्वयन

डॉ. डी. राघवेंद्र

3.

किन्नू के लिए आईपीएम रणनीतियों का विकास और सत्यापन

डॉ. पी. एन. मीणा

4.

विभिन्न कृषि पारिस्थितिक क्षेत्रों में टमाटर में आईपीएम का संश्लेषण, सत्यापन और प्रचार

डॉ. राघवेन्द्र के.वी.

5.

आम के प्रमुख कीटों और रोगों के लिए आईपीएम तकनीकों का विकास, सत्यापन और प्रसार

डॉ. डी. राघवेन्द्र

6.

संरक्षित खेती के तहत जैव गहन आईपीएम का सत्यापन और संवर्धन

डॉ. सत्येन्द्र सिंह

7.

गोंभी फसलों में स्थान विशिष्ट आईपीएम प्रौद्योगिकियों का विकास, सत्यापन और संवर्धन

डॉ. एस.पी. सिंह

दलहन

1.

चना, अरहर, हरा चना, काला चना और मटर के लिए विभिन्न कृषि-पारिस्थितिक क्षेत्रों में दलहनी फसलों के लिए आईपीएम रणनीतियों का विकास, सत्यापन और संवर्धन

डॉ. जितेन्द्र सिंह

तिलहन

1.

भारतीय सरसों में आईपीएम रणनीति का शोधन, पुनर्वैधीकरण और बड़े पैमाने पर कार्यान्वयन ( ब्रैसिका जंकिया एल. )

डॉ. एम.एस. यादव

2.

मूंगफली की फसल के लिए आईपीएम प्रौद्योगिकी का विकास, शोधन और क्षेत्रव्यापी कार्यान्वयन

डॉ. सुरेंदर कुमार सिंह

जैव नियंत्रण

1.

आईपीएम उपकरण और तकनीकों के प्रोटोटाइप का विकास और मानकीकरण

डॉ. सुरेंदर कुमार सिंह

2.

राष्ट्रीय कृषि नवाचार निधि परियोजना -2

डॉ. सुरेंदर कुमार सिंह

3.

एफ.ए.टी/बैग टी: प्रभावी जैविक नियंत्रण के लिए एक नया ट्राइकोडर्मा सूत्रीकरण

डॉ. रेखा बालोदी

कार्यक्रम II:
प्रमुख कीटों के लिए इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्किंग व डेटाबेस का विकास

1.

राष्ट्रीय कीट निगरानी प्रणाली (एनपीएसएस)

डॉ. निरंजन सिंह

2.

फसल कीट निगरानी और सलाहकार परियोजना (क्रॉपसैप) - महाराष्ट्र

डॉ. निरंजन सिंह

3.

बागवानी फसल कीट निगरानी और सलाहकार परियोजना (होर्टसैप) -महाराष्ट्र

डॉ. निरंजन सिंह

4.

हरियाणा में चयनित बागवानी फसलों के लिए आईसीटी आधारित निगरानी और सलाहकार सेवाएं

डॉ एम. एन. भट

5.

बैंगन और भिंडी के प्रमुख कीटों की पहचान और उनके प्रबंधन के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित मोबाइल ऐप

डॉ. निरंजन सिंह

6.

मक्का के प्रमुख कीटों की पहचान, निगरानी और प्रबंधन के लिए एआई आधारित मोबाइल ऐप का विकास

डॉ. निरंजन सिंह

7.

यूपी के बुलंदशहर जिले के लिए गोभी में आईपीएम कार्यान्वयन के प्रबंधन और जागरूकता के लिए एक जरूरत आधारित ई-सूचना पैकेज का विकास

डॉ. मीनाक्षी मलिक

8.

पूर्वोत्तर भारत के संदर्भ में आईपीएम में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के उपयोग और उपयोग का प्रभाव

डॉ. मीनाक्षी मलिक

कार्यक्रम III:
राष्ट्रीय महत्व के कीटों के पूर्वानुमान व पूर्वसूचना के लिए मॉडल्स का विकास

1.

क्षेत्र से लेकर परिदृश्य पैमाने तक प्रमुख फसल कीटों की निगरानी और चेतावनी के लिए हाइपरस्पेक्ट्रल सिग्नेचर उत्पन्न करना (सैक-इसरो)

डॉ. अजंता बिराह

2.

कीटों और प्रमुख फसलों के रोगों की निगरानी के लिए रिमोट सेंसिंग आधारित हाइपरस्पेक्ट्रल सिग्नेचर का निरुपण

श्री अशोक कुमार कनौजिया

3.

भारत के उत्तरी स्थानों में टमाटर में अगेती तुषार और सफेद मक्खी के प्रकोप के लिए पूर्वानुमान मॉडल का विकास

डॉ. रेखा बलोदी

कार्यक्रम IV:
सामाजिक-आर्थिक मुद्दे और आईपीएम प्रौद्योगिकी का प्रभाव विश्लेषण

1.

भारत के उत्तरी स्थानों में टमाटर में अगेती तुषार और सफेद मक्खी के प्रकोप के लिए पूर्वानुमान मॉडल का विकास

डॉ. सुमित्रा अरोड़ा

कार्यक्रम V:
मानव संसाधन विकास (एच.आर.डी), टी.एस.पी. और एन.ई.एच. कार्यक्रम

डॉ. एम. सहगल